उत्तराखंड रोडवेज बनेगा पेपरलेस


देहरादून। निरन्तर लम्बे समय से बड़े घाटे से जूझ रहे उत्तराखंड परिवहन निगम के घाटे को थोड़ा कम करने के लिए विभाग द्वारा एक नई तकनीक इज़ाद की गई है। जिसमे उत्तराखंड रोडवेज को पेपर लेस करने का निर्णय लिया गया है। विभाग के सारे काम अब ऑन लाइन करने का मन विभागीय अधिकारियों ने बना लिया। ऑन लाइन टिकट बुकिंग , इ -टिकटिंग तो पहले से ही कम्प्यूटरीकृत है। अब पे स्लिप, ड्यूटी स्लीप, वेतन , बसों के रख-रखाव की रिपोर्ट आदि सभी कार्य ऑन लाइन करने का फैसला हो चुका है। सर्वप्रथम देहरादून मंडल के 4 डिपो को ट्रायल के लिए चुना गया है। ये डिपो है ग्रामीण , पर्वतीय , डिलक्स , जेएनएनयूआरएम डिपो। रोडवेज प्रबंध निदेशक रणवीर सिंह चौहान ने पत्रकारों से बात करते हुए बताया कि पहले ज्यादातर काम मैनुवल से होता था, जिसमे गड़बड़ी की आशंका बानी रहती थी, मगर अब ऑन लाइन सिस्टम शुरू कर दिया गया । डिपो के प्रत्येक श्रेणी के कार्मिक की सभी प्रकार की जानकारी ऑन लाइन रहेगी, जिसमे प्रशासनिक एवं तकनीकी कर्मचारी भी शामिल होंगे साथ ही कार्यशाला के भी सभी कार्य ऑन लाइन होंगे ताकि पारदर्शिता निरन्तर बनी रहे। 1 सितम्बर से देहरादून मंडल के बाकि 6 डिपो रूडकी ,ऋषिकेष , कोटद्वार , हरिद्वार , श्री नगर एवं हरिद्वार जेएनएनयूआरएम डिपो मे भी यह व्यवस्था लागू हो जायेगी। विभाग में पारदर्शिता बनी रहे इसी बात के मद्देनजर ये निर्णय रोडवेज प्रबंधन ने लिया है।


Popular posts